भ्रष्ट अधिकारियों को न्यायपालिका से मिल रहा है संरक्षण- जस्टिस राकेश कुमार, पटना हाई कोर्ट

Spread the love
  • 4
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    4
    Shares

पटना हाई कोर्ट के जस्टिस राकेश कुमार ने अपने एक फ़ैसले में लिख दिया है कि ” लगता है कि हाईकोर्ट प्रशासन ही भ्रष्ट अधिकारियों को संरक्षण दे रहा है। पटना के जिस एडीजे के ख़िलाफ़ भ्रष्टाचार का मामला साबित हुआ है, उनको बर्ख़ास्त करने के बजाए मामूली सज़ा क्यों दी गई? हाई कोर्ट के तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश व अन्य जजों ने भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ मेरे विरोध को दरकिनार किया।”

जस्टिस राकेश कुमार ने न्यायपालिका में व्याप्त भ्रष्टाचार पर खुलकर लिखा है। उन्होंनेअपने आदेश की कापी प्रधानमंत्री कार्यालय, कोलेजियम, केंद्रीय कानून मंत्रालय और सीबाई को भेजने का निर्देश दिया है। जस्टिस कुमार पूर्व आई ए एस अधिकारी रमैय्या के मामले की सुनवाई कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट से बेल रद्द होने के बाद भी यह अफसर बाहर कैसे घूम रहा है। जस्टिस राकेश कुमार ने लिखा है कि अपना भ्रष्टाचार से बचने के लिए सीनियर जज भी चीफ जस्टिस के आगे पीछे घूमते रहते हैं।

जस्टिस राकेश कुमार के इस फैसले से पटना हाईकोर्ट में सरगर्मियां बढ़ गई हैं। चीफ जस्टिस ने नोटिस निकाला है और कहा है कि जस्टिस राकेश कुमार से सारे मुकदमे वापस लिए जाते हैं।

इसी बीच पटना हाई कोर्ट में 11 जजों की बेंच ने कल के जस्टिस राकेश कुमार के फैसले को पलट दिया है, अब प्रश्न यह उठ रहा है कि आखिर ऐसा क्या गलत कह दिया है जस्टिस राकेश कुमार ने?

Facebook Reactions