मोदी पर लिखी टाइम की कवर स्टोरी “इंडियाज़ डिवाइडर-इन-चीफ” के लेखक पाकिस्तानी नहीं हैं, झूठ फैलाया गया

Spread the love
  • 1.1K
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.1K
    Shares

टाइम  पत्रिका की कवर स्टोरी ‘इंडियाज़ डिवाइडर-इन-चीफ’ इस हफ्ते सोशल मीडिया में बहस का मुख्य विषय रही। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तीखी आलोचना में पत्रकार और लेखक आतिश तासीर द्वारा लिखे गए इस लेख के बजाय, लेखक की राष्ट्रीयता को लेकर बहुत चर्चा हुई। सत्तारूढ़ भाजपा ने भी लेख के बजाय, लेखक की राष्ट्रीयता पर उंगली उठाते हुए आलोचना को खारिज किया और टिप्पणी करने से इनकार किया है। टाइम्स नाउ के साथ एक साक्षात्कार में, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी लाइन को दोहराया। लेख में पीएम मोदी की आलोचना को लेकर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “देखिए मैं मानता हूँ कि भारत की जनता और भारत की जनता का सिक्स सेंस किसी भी मैगज़ीन से बहुत बड़ा है। 23 [मई] तारीख को यह तय हो जाएगा कि मोदी जी ने कैसा काम करा है। और मेरे पास जो इन्फॉर्मेशन है… कि एक पाकिस्तानी औथर ने लिखे गए लेख को इतनी विश्वसनीयता से नहीं लेना चाहिए।”

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए, भाजपा प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा ने भी यही दावा दोहराया। उन्होंने कहा, “आज इसी प्रकार का एक आर्टिक्ल हमने टाइम मैगज़ीन में देखा। बंधुओं, उसका लेखक कौन है? उसका लेखक है एक पाकिस्तानी नागरिक। एक पाकिस्तानी नागरिक मोदी जी को ‘डिवाइडर’ कहता है और राहुल गांधी उसको ट्वीट करते हैं।”

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज़ हुसैन ने ज़ी न्यूज़ को दिए एक साउंड बाइट में कहा, “यह लिखने वाला आर्टिक्ल है वह पाकिस्तानी है। चाहे वह अमेरिका चला जाए। उनके मन में तो मोदी जी को लेकर बहुत आक्रोश रहता ही है। अमेरिका के किसी टाइम मैगज़ीन के सर्टिफिकेट की ज़रुरत नहीं है। भारत के इतिहास में, सबसे कम दंगे-फसाद अगर किसी के राज में हुए, उस प्रधानमंत्री का नाम श्री नरेंद्र मोदी है।”

 

तथ्य-जांच

ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि भारतीय पत्रकार तवलीन सिंह और पाकिस्तानी राजनेता सलमान तासीर के बेटे आतिश तासीर की राष्ट्रीयता के बारे में भाजपा का दावा असत्य है। तासीर एक ब्रिटिश नागरिक हैं। वह यूके में पैदा हुए, भारत में बड़े हुए और वर्तमान में न्यूयॉर्क, यूएसए में रहते हैं। भाजपा ने उन्हें “पाकिस्तानी नागरिक” कहा, इस बारे में तिरंगा टीवी से बात करते हुए तसीर ने कहा, “मेरी आलोचना के प्रति मैं बहुत उदासीन रहता हूं। मैं चाहता हूं कि लोग जितना चाहें खुलकर बोलें। लेकिन जब भाजपा के प्रवक्ता सामने आएं और झूठ बोलें कि मैं पाकिस्तानी हूं, जबकि वह अच्छी तरह जानते हैं कि मैं भारत में पला-बढ़ा और पाकिस्तान उतनी ही बार गया हूं, जितनी बार आप गए होंगे, तब यह सब मुझे गुस्सा दिलाता है।” -(अनुवाद)

तासीर को जब संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए ग्रीन कार्ड मिला, तो उन्होंने द वॉल स्ट्रीट जर्नल में एक लेख लिखा था।

वरिष्ठ पत्रकार तवलीन सिंह ने भी उन दावों को खारिज किया कि उनका बेटा पाकिस्तानी नागरिक है। अभिनेता कबीर बेदी के ट्वीट के जवाब में उन्होंने कहा, “वह जो लिखता है, कबीर आप भले उससे असहमत हो लेकिन, आप जानते हैं कि वह पाकिस्तानी नहीं है।” ऑल्ट न्यूज़ से बातचीत में तवलीन सिंह ने पुष्टि की कि तासीर ब्रिटिश नागरिक हैं।

भारतीय जनता पार्टी द्वारा बनाई गई कथा में यह बताने की कोशिश की गई कि अपने लेख में मोदी सरकार के प्रति आलोचनात्मक रहे अंतरराष्ट्रीय लेखक एक पाकिस्तानी नागरिक हैं, इसलिए, उनकी लिखी सामग्री विश्वसनीय नहीं हो सकती। वैसे, आतिश तासीर ब्रिटिश नागरिक हैं, कोई पाकिस्तानी नहीं, जैसा कि दावा किया गया।

नोट: यह खबर ऑल्ट न्यूज़ से ली गयी है। 

Facebook Reactions